खेत के बिल को लेकर विपक्ष ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया लेकिन इन किसानों ने अपने ‘प्रचार’ (वीडियो) को पंचर कर दिया।

नई दिल्ली: चल रही शीत लहर से प्रभावित होकर, किसान राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं क्योंकि केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ उनका विरोध सोमवार को बारहवें दिन में प्रवेश कर गया। किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है और फिलहाल विपक्षी दलों, पीपुल्स अलायंस फॉर गुप्कर डिक्लेरेशन (PAGD), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, DMK, RJD, SP, NCP सहित और कांग्रेस पार्टी ने किसानों को अपना समर्थन दिया है।

विभिन्न स्थानों पर चल रहे किसानों के आंदोलन के साथ, दिल्ली और पड़ोसी राज्यों के बीच कई सीमाओं को भी यातायात के लिए बंद कर दिया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिंघू बॉर्डर पर जाकर आरोप लगाया कि केंद्र ने दिल्ली सरकार को किसानों के ‘दिली चालो’ के विरोध में नौ स्टेडियमों को अस्थायी जेलों में बदलने के लिए दबाव बनाने की कोशिश की।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरु तेग बहादुर स्मारक का दौरा किया

दूसरी ओर, अखिलेश यादव को लखनऊ में पुलिस ने खेत कानूनों के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिया।

अखिलेश यादव

उस समय के दौरान जब विपक्षी पार्टियां विरोध प्रदर्शन को रोकने की कोशिश कर रही थीं, हमने इन नए फार्म कानूनों के बारे में कुछ किसानों से बात करने और जानने की कोशिश की। आपको बता दें कि ये नए कृषि कानून बिल्कुल किसानों के पक्ष में हैं।

इस कानून के तहत, किसान अपनी फसल को दूसरे राज्य और जिले में बेच सकेंगे और वे उपज का मूल्य पहले से निर्धारित कर सकेंगे। नए कृषि कानूनों से कृषि अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा जिससे किसानों की स्थिति में सुधार होगा।

किसानों ने विपक्षी दलों द्वारा फैलाए जा रहे भ्रम पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की

महाराष्ट्र के किसान भगवान भालेराव ने नए कृषि कानूनों को किसान के अनुकूल बताया है। उन्होंने कहा कि ‘नए कृषि बिल से किसानों को अधिक लाभ मिल रहा है।’

https://www.youtube.com/watch?v=videoseries

विनायक ने दावा किया कि केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए नए कृषि कानून से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

https://www.youtube.com/watch?v=videoseries

भगवान चोपड़े ने कहा कि ‘नए सुधार कानूनों से केवल किसान लाभान्वित होंगे’।

https://www.youtube.com/watch?v=videoseries



from news – Hindi News, Latest News in Hindi, Breaking News https://ift.tt/3mLZsNo

Post a Comment

0 Comments